शुक्रवार, 29 मार्च 2013

यमुना


साफ हो गई यमुना अब तो
पानी केवल गंदा है
करोड़ों घुल गए इस पानी में
ये कैसा गोरखधंधा है
नाले में बदल गई
कृष्ण की यमुना माई है
साफ हो गई यमुना अब तो
कागज पर हुई सफाई है
कागज पर नदी उफन रही
पैसे से पानी डलवाई है
पानी काला है गंदा है
ये तो प्रभु की माया है
सरकार ने कौन सा
आसमान से पानी बरसाया है
आसमान है गंदा तो
बारिश भी गंदी ही होगी
यमुना की तो पहले से ही
कर रखी साफ सफाई है
सावधान, इस तरफ दो ध्यान
तस्वीर निकाल कर रख लो तुम
बच्चे न शिकायत कर बैठे
हमें युमना नहीं दिखाई है
सरकार लगी है सफाई पर
युमना की कायापलट होगी
इस बार जो पैसा खर्च हुआ
यमुना और संकुचित होगी
दिल्ली के नक्शे में
एक लकीर बनकर ये इतराएगी।

1 टिप्पणी:

  1. बहुत सुन्दर ....करारा व्यंग .......फुर्सत में मेरा ब्लॉग भी देखे

    उत्तर देंहटाएं